टोक्यो । भारत की महिला गोल्फर दीक्षा डागर अगले माह पांच अगस्त से शुरू हो रही ओलंपिक की महिला गोल्फ प्रतियोगिताओं में भारत की ओर चुनौती पेश करेंगी। अंतरराष्ट्रीय गोल्फ महासंघ ने भारतीय गोल्फ यूनियन (आईजीयू) से कहा है कि दीक्षा को ओलंपिक में जगह दी गयी है इससे पहले उसे रिजर्व में रखा गया था। 
वहीं इससे पहले भारत की ही अदिति अशोक ने ओलंपिक में खेलने के लिए कट हासिल किया था। महिला गोल्फ स्पर्धा में अब भारत की दो खिलाड़ी भाग लेंगी। बाएं हाथ की खिलाड़ी दीक्षा पहली बार ओलंपिक में हिस्सा लेंगी जबकि अदिति दूसरी बार भारत का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। वहीं दक्षिण अफ्रीका की पॉला रेटो ने टोक्यो खेलों से हटने का फैसला किया है और आस्ट्रिया की अपनी गोल्फर सारा शोबर को बदलने के आग्रह को ठुकरा दिया गया है जिसके बाद दीक्षा को प्रतियोगिता में जगह मिली।
आईजीयू ने कहा कि वर्ष 2019 में पेशेवर बनी दीक्षा 2018 एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं और उन्होंने लेडीज यूरोपीय टूर पर एक टीम स्पर्धा सहित दो खिताब जीते हैं। इससे पहले दीक्षा का आयरलैंड में आईएसपीएस हांडा आमंत्रण टूर्नामेंट में खेलने का कार्यक्रम था। इस बीच भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने भी उनकी मान्यता और यात्रा के लिए औपचारिकता शुरू कर दी है। दीक्षा को लंबे पृथकवास की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।