रायपुर राजधानी में गैस सिलिंडर के नकली रेगुलेटर धड़ल्ले से बिक रहे हैं। शिकायत मिलने पर गुरुवार को खाद्य विभाग के निरीक्षकों ने ग्राहक बनकर छापेमार कार्रवाई की तो मामले का पर्दाफाश हुआ। राजधानी के नया पारा में गोलछा इंटरप्राइजेज, जय भारती स्टोर, भारत पात्र भंडार से खाद्य विभाग की टीम ने दबिश दी। यहां विभिन्न कंपनियों के नाम पर बिक रहे 196 नकली गैस रेगुलेटर जब्त किए हैं।

प्रारंभिक जांच के मुताबिक रायपुर में अनेक स्थानों पर बर्तन की दुकानों और गैस भट्टी बेचने वाले दुकानदारों के द्वारा अवैध रूप से मेरठ और दिल्ली से नकली रेगुलेटर बिना बिल के मंगा कर उपभोक्ताओं को बेचा जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि हिंदुस्तान पेट्रोलियम कंपनी में नकली रेगुलेटर को दिखाए जाने पर बताया गया है कि हिंदुस्तान पेट्रोलियम कंपनी द्वारा अधिकृत रूप से गैस एजेंसी द्वारा अपने घरेलू उपभोक्ताओं को कनेक्शन लिए जाने पर कंपनी का अधिकृत रेगुलेटर दिया जाता है, जो भारतीय मानक संस्थान के मानक अनुसार होता है। किसी भी नकली रेगुलेटर की जांच के लिए रेगुलर में लिखे नंबर की सीपीएल से जांच की जा सकती है।

छापा पड़ते ही सड़क पर मिले 10 नग नकली रेगुलेटर

खाद्य नियंत्रक तरुण राठौर ने बताया कि छापेमार कार्रवाई के दौरान तीन जगहों पर नकली रेगुलेटर पाया गया। इनमें 110 नग हिंदुस्तान पैट्रोलियम, 78 नग इंडियन इंडियन गैस कंपनी और भारत पेट्रोलियम के 18 नग नकली रेगुलेटर जब्त किए गए। वहीं कार्रवाई के दौरान सड़क पर अज्ञात व्यक्ति की ओर से फेके गए 10 नग हिंदुस्तान पेट्रोलियम कंपनी के रेगुलेटर भी जब्त किए गए हैं।

अब आगे यह होगी कार्रवाई

खाद्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक तीन प्रतिष्ठानों में जांच कर घरेलू गैस कनेक्शन में उपयोग किए जाने वाले तीन कंपनियों के 196 नकली रेग्युलेटर मिलने पर द्रवित पेट्रोलियम गैस प्रदाय वितरण एवं विनियमन आदेश 2000 और आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया है। इसके बाद कार्रवाई तय की जाएगी।

बिना बिल के बिक रहे थे रेगुलेटर

खाद्य नियंत्रक तरुण राठौर ने बताया कि खाद्य विभाग नकली रेगुलेटर बिना बिल के अवैध रूप से बेचे जाने की शिकायत मिली थी। इसी के आधार पर जांच की गई। उन्होंने बताया कि घरेलू उपभोक्ताओं के लिए जो रेगुलेटर घर में लगाए जाते हैं उपभोक्ता को उन्हीं तीन कंपनियों से मिलता है ,जहां से वे घरेलू सिलेंडर प्राप्त करते हैं। खाद्य विभाग की टीम जिसमें सहायक खाद्य अधिकारी संजय दुबे, अरविंद दुबे, पवित्रा अहिरवार सहित खाद्य निरीक्षक सोनल चंद्राकर ,रीना साहू, संदीप शर्मा ,सुचित्रा कश्यप और मनीष यादव ने कार्रवाई की है।