India

नवरात्रि पर गरबा खेलते हुए 10 लोगों की मौत, जानें वजह

गुजरात: नवरात्रि के मौके पर देशभर में गरबा खेला जा रहा है। लेकिन गुजरात का गरबा दुनियाभर में एक अलग पहचान रखता है। भारत में गरबा सबसे ज्यादा गुजरात में ही फेमस है। नवरात्रि के मौके पर पंडालों में बड़ी संख्या में महिलाओं और पुरूषों के साथ युवा भी जमकर डांडिया खेलते है। लेकिन इस बार गुजरात में नवरात्रि के दौरान हार्ट अटैक का कहर देखने को मिला। बीते 24 घंटों में गरबा खेलते हुए 12 लोगों की जान चली गई। नवरात्रि के 6 दिनों में 108 इमरजेंसी एम्बुलेंस को 521 कॉल्स सिर्फ हार्ट से जुड़े मामलों के लिए आए हैं। गुजरात में हार्ट अटैक के मामलों में अचानक वृद्धि चिंता का कारण बन रही है। देशभर में बीते कुछ दिनों से खासकर युवा दिल के दौरे का शिकार हो रहे हैं।

24 घंटे में 10 लोगों की मौत

नवरात्रि का त्योहार जोरो-शोरों से मनाया जा रहा है। हालांकि इस दौरान गरबा खेलते हुए युवाओं को हार्ट अटैक आने की घटनाएं भी लगातार सामने आ रही हैं और बीते 24 घंटे में अलग-अलग जगहों पर कुल 10 लोगों की मौत हो चुकी है। बता दें कि नवरात्रि के 6 दिनों में 108 इमरजेंसी एंबुलेंस को 521 कॉल्स सिर्फ हार्ट से जुड़े मामलों के लिए और सांस फूलने की समस्या के लिए आए हैं। वीर शाह की मौत से पहले अहमदाबाद के 24 साल के युवक की गरबा खेलते समय अचानक गिरने से मौत हो गई थी। वहीं बड़ौदा के डभोई में 13 साल के बच्चे की मौत गरबा खेलने के दौरान हार्ट अटैक आने से हुई थी। इसके अलावा कपड़वंज के 17 साल के सगीर की मौत भी गरबा खेलते समय हुई। बड़ौदा के ही एक 55 साल के व्यक्ति की अपनी सोसाइटी में गरबा खेल रहे थे और अचानक हार्ट अटैक से उनकी मौत हुई। राजकोट से भी गरबा खेलते वक्त 2 लोगों की मौत की खबर सामने आई है।

नवरात्रि के लिए गरबा पंडालों में विशेष तैयारी

बीते कुछ महीनों से गुजरात के युवाओं में हार्ट अटैक के बढ़ते मामलों को देखते हुए नवरात्रि में गरबा सेलिब्रेशन के दौरान प्लॉट, क्लबों में डॉक्टर और एंबुलेंस का इंतज़ाम गरबा आयोजकों की तरफ़ से किया गया है। राज्य सरकार ने भी तमाम सरकारी अस्पतालों को अलर्ट जारी किया है। गरबा पंडालों के नजदीक के CHC सेंटरों को भी एलर्ट रहने की सूचना दी गई है। गरबा आयोजकों को पंडालों में एंबुलेस प्रवेश कर सके इसके लिए कॉरिडोर बनाने का निर्देश दिया है।

हार्ट अटैक आने की वजह

वहीं डॉक्टरों के मुताबिक पानी का कम सेवन, असंतुलित नमक का इस्तेमाल, ब्लड प्रेशर, नींद की कमी और अनुवांशिक समस्याओं की वजह से हार्ट अटैक की समस्या होती है। गरबा खेलते समय हार्ट अटैक की समस्याओं से बचने के लिए डॉक्टर प्रवीण गर्ग ने कहा कि, गरबा खुली जगह पर खेलना चाहिए और आयोजक अपने स्टाफ को सीपीआर की ट्रेनिंग दें। उन्होंने कहा गरबा के आयोजन स्थल पर पानी की पर्याप्त व्यवस्था रहनी चाहिए और हार्ट की समस्या, डायबिटीज या ब्लड प्रेशर वालों को लंब समय तक नहीं खेलना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button