India

बांके बिहारी मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए एडवाइजरी जारी, बच्चे-बुजुर्ग और बीमार न आएं

Banke Bihari Mandir: वृन्दावन के विश्व प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में हर दिन हजारों की संख्या में भक्त अपने आराध्य के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। भक्तों की भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रबंधन ने हरियाली तीज पर मंदिर में आने वाले भक्तों के लिए एडवाइजरी जारी की है, जिसमें कहा गया है कि श्रद्धालु अपने साथ छोटे बच्चे, बुजुर्ग, दिव्यांग और मरीजों को मंदिर में न लाएं।

बांकेबिहारी मंदिर के प्रबंधक (प्रशासन) मुनीश कुमार द्वारा जारी एडवाइजरी में हरियाली तीज पर होने वाली लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए श्रद्धालुओं को कई तरह की चेतावनी दी है, जिसमें बताया कि श्रद्धालु अपने साथ लगेज और कीमती सामान न लाएं, मंदिर में आने से पहले मुख्य मार्ग पर बने निशुल्क जूता घरों में जूता-चप्पल उतारकर आएं। मंदिर प्रबंधन ने मंदिर में जेबकतरे, चेन कतरे और मोबाइल चोरों से भी श्रद्धालुओं को सचेत किया है। इसके साथ ही मंदिर प्रबंधक ने हरियाली तीज पर भीड़ के आंकलन के बाद ही वृंदावन आने की सलाह दी है।

मंदिर प्रबंधक ने बताया कि शनिवार को हरियाली तीज पर सोने-चांदी से जड़ित हिंडोला में ठा. बांकेबिहारी के दर्शन होंगे। इसके लिए लाखों श्रद्धालु ठाकुरजी के दर्शन करने के लिए आएंगे। उन्हें किसी तरह की असुविधा न हो इसके लिए मंदिर प्रबंधन द्वारा यह एडवाइजरी जारी की गई है।

दर्शन का समय 4 घंटे बढ़ाया गया

शनिवार को प्रात: 7.45 बजे से दोपहर दो बजे और सायंकालीन सेवा में शाम पांच बजे से रात्रि 11 बजे तक ठा. बांकेबिहारी गर्भ़गृह से बाहर स्वर्ण हिंडोला में विराजमान होकर भक्तों को दर्शन देंगे। बांकेबिहारी मंदिर के सह प्रबंधक उमेश सारस्वत का कहना है कि हरियाली तीज पर ठा. बांकेबिहारी प्रात:कालीन एवं सायंकालीन सेवा में 2-2 घंटे दर्शन का समय बढ़ाया गया है।

आरती का बदला समय

स्वर्ण हिंडोला में दर्शन के समय बढ़ाने के साथ ही आरती का समय भी भी बदलाव किया गया है। प्रात:कालीन सेवा में सेवायत का निज मंदिर में प्रवेश प्रात: 6 बजे, प्रात: 7.45 बजे दर्शन खुलेंगे, श्रृंगार आरती प्रात: 7.55 पर, राजभोग सेवा प्रात: 8 बजे, राजभोग आरती मध्याह्न 1.55 बजे के बाद मध्याह्न 2 बजे मंदिर के पट बंद हो जाएंगे। शाम को मंदिर के पट 5 बजे खुलेंगे, शयन आरती रात्रि 10.55 पर होगी इसके बाद रात्रि 11 बजे मंदिर के पट बंद होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button