India

हो जाएं तैयार, अब पड़ेगी कड़ाके की ठंड, अचानक हुए मौसम में बदलाव का क्‍या है कारण…

Weather Update: मौसम का मिजाज सोमवार को फिर बदला हुआ नजर आया। दिन और रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग ने अब कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना जताई है। हालांकि आईएमडी के मुताबिक मौसम में 18 अक्टूबर से सुधार होगा और 24 अक्टूबर तक मौसम साफ रहने की उम्मीद है. 24 अक्टूबर तक भारी बारिश या बर्फबारी की संभावना कम है. बता दें कि सर्दी सामान्य समय से पहले आ गई है. पहले नवंबर में इस तरह का मौसम देखने को मिलता था.

आखिर मौसम ने अचानक कैसे ले ली करवट?

मौसम में अचानक बदलाव ने सभी को हैरान कर दिया है. अब यह कहा जा सकता है कि इस साल की ठंड ने दस्तक दे दी है, इसके साथ ही गर्मी अब लगभग ना के बराबर है. दिल्‍ली, पंजाब, हिमाचल, यूपी, बिहार और राजस्‍थान में लोगों को ठंड का अहसास होने लगा है. इतना ही नहीं लोग अब ठंडी हवाएं भी महसूस कर रहे हैं. अब आपको बताते हैं मौसम में अचानक आए इस बदलाव के बारे में. मौसम में बदलाव के कारण की बात करें तो यह हिमाचल प्रदेश में हुई बारिश और पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी है. ऊपरी इलाकों में हुई बर्फबारी के कारण तापमान में अचानक गिरावट देखने को मिल रही है. हिमाचल प्रदेश के कई जिलों के लिए मौसम विभाग ने ‘यलो अलर्ट’ जारी किया है.

बारिश और बर्फबारी के कारण तापमान में गिरावट

बता दें कि सोमवार को पंजाब, हरियाणा और दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में अच्छी बारिश दर्ज की गई है. इससे भी तापमान में गिरावट का कारण माना जा सकता है. केदारनाथ और आसपास इलाकों में हाल ही में हुई बारिश और बर्फबारी के कारण भी तापमान में तेजी से गिरावट देखने को मिली है. हिमाचल प्रदेश के कई जिलों के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश के कारण तापमान में भारी गिरावट आई है और सर्दी जल्दी शुरू होने के संकेत मिल रहे हैं. मौसम विभाग ने कहा कि सिरमौर में चुडधार पर्वतमाला, कुल्लू में रोहतांग दर्रा और जलोरी दर्रा तथा शिमला में हाटू पीक और चांशल में सोमवार सुबह बर्फबारी हुई.

शिमला, सिरमौर, कुल्लू और मंडी के ऊंचाई वाले इलाकों के अलावा लाहौल स्पीति और किन्नौर आदिवासी बहुल जिलों में हल्की बर्फ गिरी. रोहतांग में अटल सुरंग तथा मनाली के मढ़ी में इस मौसम की पहली बर्फ गिरी. बारिश मंगलवार तक जारी रहेगी और लाहौल स्पीति, किन्नौर, शमिला, कुल्लू तथा मंडी के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी हो सकती है. कश्मीर के ऊपरी इलाकों में सोमवार को हल्की बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश हुई जिसके बाद माना जा रहा है कि समय से पहले ही सर्दी ने दस्तक दे दी है. बर्फबारी और बारिश के कारण तापमान में कमी आ गई तथा लोगों ने गर्म कपड़े पहनना शुरू कर दिया है. मौसम में यह बदलाव 14 अक्टूबर से देखा जा रहा है जब कई जगहों पर रुक-रुक कर बारिश हुई, ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हुई, जबकि कुछ जगहों पर गरज के साथ तेज हवा चली.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button