नई दिल्‍ली,टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल को चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में 23,045 करोड़ रुपये का भारी नुकसान हुआ है. गुरुवार को जारी इस तिमाही नतीजे के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि एयरटेल के शेयर में शुक्रवार को बड़ी गिरावट दर्ज की जा सकती है. लेकिन इसके उलट सप्‍ताह‍ के आखिरी कारोबारी दिन बीएसई इंडेक्‍स में एयरटेल के शेयर में सबसे अधिक 7 फीसदी से अधिक की तेजी दर्ज की गई. इस दौरान कंपनी का शेयर भाव 390 रुपये पर पहुंच गया. ऐसे में सवाल है कि आखिर क्‍यों घाटे के बावजूद कंपनी के शेयर में इतनी बड़ी तेजी देखने को मिली है. आइए समझते हैं इस मामले को...

क्‍या है एयरटेल में तेजी की वजह?

दरअसल,  मीडिया में ऐसी खबरें चल रही हैं कि मोदी सरकार वित्तीय दबाव कम करने के लिए टेलिकॉम कंपनियों को राहत पैकेज देने का प्लान बना रही है. खबरों के मुताबिक राहत पैकेज को लेकर सरकार ने कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में सचिवों की एक समिति गठित की थी. इस समिति ने राहत पैकेज का पूरा ड्राफ्ट तैयार कर लिया है. इस खबर का फायदा एयरटेल को मिला है और शुक्रवार को घाटे का असर शेयर भाव पर नहीं दिखा. इसके अलावा एयरटेल की आय में इजाफे की वजह से भी निवेशकों का भरोसा बरकरार है. आंकड़े बताते हैं कि दूसरी तिमाही में एयरटेल का आय 4.7 फीसदी बढ़कर 21,199 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है.