हैदराबाद,पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बांग्‍लादेश के व‍िडियो को यूपी का बताए जाने पर एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने तीखा हमला बोला है। ओवैसी ने कहा कि इमरान खान को भारत के मुसलमानों की फिक्र करने की बजाय अपना देश संभालना चाहिए और सिखों के गुरुद्वारे पर हो रहे हमले को रोकना चाहिए। एआईएमआईएम ने कहा कि हमें भारतीय मुसलमान होने पर गर्व है और आगे भी रहेगा। हमने जिन्‍ना के गलत सिंद्धांत को इसीलिए खारिज कर दिया था।
 तेलंगाना के संगारेड्डी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा, 'पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री आप हिंदुस्‍तान की फिक्र करना छोड़ दो, हमारे लिए अल्‍लाह ही काफी हैं। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बांग्‍लादेश के विडियो डालकर कहा कि ये हिंदुस्‍तान का विडियो है। मिस्‍टर इमरान खान आप अपने देश की चिंता करें, हमारी नहीं। हमने जिन्‍ना के गलत सिद्धांत को खारिज कर दिया था।'
 
'हमें भारतीय मुसलमान होने पर गर्व है'
ओवैसी ने कहा, 'हमें भारतीय मुसलमान होने पर गर्व है और आगे भी यह रहेगा। धरती पर कोई भी ताकत हमारी भारतीयता को नहीं ले सकती है और कोई भी ताकत हमारी धार्मिक पहचान को नहीं ले सकती है क्‍योंकि भारतीय संविधान ने हमें इसकी गारंटी दी है।' हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने इमरान खान को नसीहत दी कि वह भारत की फिक्र न करें और सिखों के गुरुद्वारे पर हो रहे हमले को रोकें। साथ ही गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर पत्‍थरबाजी करने वाले लोगों पर कार्रवाई करें।

बता दें कि भारत के खिलाफ दुष्प्रचार की मुहिम में पाकिस्तान किस कदर लगा हुआ है, इसका अंदाजा इसी से लग सकता है कि खुद उसके प्रधानमंत्री भी फेक न्यूज फैला रहे हैं। ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ के हमले की घटना से ध्यान हटाने के लिए इमरान खान ने शुक्रवार रात को एक के बाद एक कई विडियो ट्वीट कर 'भारत में मुस्लिमों पर पुलिस के अत्याचार' का झूठा दावा किया। बांग्लादेश के करीब 7 साल पुराने विडियो को ट्वीट कर इमरान ने दावा किया कि भारतीय पुलिस मुस्लिमों पर अत्याचार कर रही है। हालांकि, बाद में उन्होंने इन ट्वीट्स को डिलीट कर दिया।