नई दिल्ली                                                                                               
इंफोसिस ने 10 फीसदी कमर्चारियों की छंटनी करने का फैसला किया है। कंपनी खासतौर से वरिष्ठ और मध्यम स्तर पर यह छंटनी करेगी। इससे पहले कॉग्निजेंट भी छंटनी का ऐलान कर चुकी है। सूत्रों के मुताबिक, इन्फोसिस छंटनी के तहत जॉब लेवल छह (जेएल6) से करीब 2200 कर्मचारियों को बाहर करेगी। 

जॉब लेवल छह से आठ के बीच कंपनी में करीब 30 हजार कर्मचारी हैं। इसके अलावा कंपनी जॉब लेवल तीन और उससे नीचे के स्तर पर पांच फीसदी तक छंटनी करेगी। इस इस तर कंपनी में करीब 86 कमर्चारी हैं। वहीं एसोसिएट और मध्यम स्तर पर करीब एक लाख कर्मचारी  हैं। इसी तरह असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट से लेकर एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट जैसे के स्तर पर करीब 50 अधिकारियों की छंटनी हो सकती है।
 
कॉग्निजेंट ने पिछले हफ्ते कुल 13 हजार कर्मचारियो की छंटनी का ऐलान किया था। आने वाली तिमाहियों में कंपनी वरिष्ठ स्तर पर करीब सात हजार कर्मचारियों की छंटनी करेगी। अमेरिकी आईटी कंपनी कॉग्निजेंट ने कहा है कि वह कंटेट ऑपरेशंस कारोबार को भी बंद कर रही है और इससे छह हजार कर्मचारी प्रभावित होंगे। इस तरह कुल मिलाकर करीब 13 हजार कर्मचारी छंटनी के दायरे में होंगे।

पिछले दिनों कंपनी के सीईओ ब्रायन हम्फ्रीज ने कहा था कि संगठनात्मगक पुनर्गठन के कारण कंपनी ने यह मुश्किल फैसला लिया है जिस वजह से 12,000 से अधिक कर्मचारियों को अपनी नौकरी छोड़नी पड़ेगी। यह कदम लागत को कम करने और कौशल विकास के साथ-साथ ग्रोथ में निवेश के लिए उठाया गया है।