नई दिल्ली
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने एक बार फिर पंजाब ऐंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC) से छह महीने में रकम निकालने की सीमा बढ़ा दी है। आरबीआई ने यह सीमा अब 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार कर दी है। बता दें कि बैंक में अनियमितता पाए जाने के बाद इसपर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। आरबीआई ने कई बार निकासी की सीमा भी बढ़ाई है।

RBI ने 23 सितंबर को पीएमसी पर कई पाबंदियां लगाई थीं। इसके बाद चौथी बार कंद्रीय बैंक ने यह निकासी की सीमा बढ़ाई है। सबसे पहले निकासी की सीमा 1000 रुपये तय की गई थी। इसके बाद इसे बढ़ाकर 10,000 किया गया, फिर 25,000, 40,000 और अब 50 हजार कर दी गई है। बैंक के कामकाज में गड़बड़ी और एचडीआईएल को दिए गए कर्ज के बारे में गलत जानकारी देने की वजह से उसपर प्रतिबंध लगाए गए।

बैंक ने HDIL को 8,880 करोड़ में से 6,500 करोड़ का कर्ज दिया था। यह कुल का लगभग 73 फीसदी है। यह कर्ज कई वर्षों से एनपीए बना हुआ है। बैंक पर नया जमा स्वीकार करने और कर्ज देने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। आरबीआई के एक पूर्व अधिकारी को बैंक का प्रशासक बनाया गया है।

कई जमाकर्ताओं की मौत
पीएमसी में जमा करने वाले लोग बेहद परेशान हैं। एक के बाद एक आठ खाताधारकों की मौत का मामला सामने आ चुका है। जमापूंजी की निकासी न कर पाने की वजह से लोगों की जान तक चली गई। एक महिला चिकित्सक ने कथित तौर पर खुदकुशी कर ली थी। मंगलवार को भी एक जमाकर्ती की मौत का मामला सामने आया। परिवारवालों ने मौत का कारण इलाज का खर्च न उठा पाना बताया है।