खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत ने आज नापतौल विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर नापतौल में गड़बड़ी करने वाले और निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत पर सामान बेचने वाले दुकानदारों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। श्री भगत ने दुकानों के सामने में आवश्यक वस्तुओं की मूल्य सूची प्रदर्शित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य के पेट्रोल पम्पों, उचित मूल्य की दुकानों सहित अन्य सभी दुकानों में सामग्रियों की वजन और कीमत की जांच के लिए प्रदेश भर में सघन अभियान चलाया जाए। लॉकडाउन के दौरान देश की जनता को किसी भी तरह की परेशानी  नहीं होनी चाहिए। 
श्री भगत ने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन के दौरान प्रदेशवासियों को सही कीमत पर गुणवत्तापूर्ण सामग्री जरूरत के मुताबिक मिले, इसके लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। श्री भगत ने कहा कि राज्य की उचित मूल्य की दुकानों सहित अन्य दुकानों में नापतौल की गड़बड़ी एवं ज्यादा मूल्य पर सामान बेचने की शिकायतें मिली है। उन्होंने बैठक में राज्य के कई जिलों के खाद्य एवं नापतौल विभाग के अधिकारियों से दूरभाष पर अनियमितता की जानकारी ली और आवश्यक कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए। श्री भगत ने पैकेट में बिकने वाले सामग्रियों दूध, बिस्कुट, खाद्य तेल एवं अन्य खाद्य वस्तुओं के पैकेट में अंकित मूल्य और उसका वजन के जांच करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। श्री भगत ने अधिकारियों को प्रतिदिन की गई कार्यवाही का प्रतिवेदन देने के निर्देश दिए हैं। 
बैठक में खाद्य विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह, अपर संचालक श्री अजय अग्रवाल, नापतौल विभाग के डिप्टी कन्ट्रोलर श्री बी.आर. सिदार, असिस्टेंट कन्ट्रोलर एस.एस. राय सहित अन्य अधिकारी माजूद थे।