उदयपुर. ट्रिपल तलाक (Triple divorce) के खिलाफ कानून आने के बाद उदयपुर (Udaipur) में इससे जुड़ा पहला मामला सामने आया है. इस संबंध में शहर के धानमण्डी पुलिस थाने (Dhanamandi Police Station) में मामला दर्ज किया गया है. हालांकि पीड़िता ने पहले धानमंडी थाने पहले रिपोर्ट दी थी, लेकिन पुलिस (Police) ने उसे महिला थाने जाने की नसीहत देते हुए वहां से टरका दिया. उसके बाद पीड़िता आईजी विनीता ठाकुर (IG Vinita Thakur) के सामने पेश हुई. आईजी के निर्देश पर धानमंडी थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया है.

मोबाइल का दुरुपयोग किया

पुलिस के अनुसार पीड़िता धानमण्डी थाना क्षेत्र के धोलीबावड़ी की रहने वाली है. उसकी ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट के मुताबिक उसका विवाह सलूम्बर में अंदर का शहर तुर्की दरवाजा के पास रहने वाले अहमद रजा खान के साथ हुआ था. पीड़िता का आरोप है कि दहेज की मांग को लेकर उसे प्रताड़ित किया जाता है. दो महीने पहले उसकी ननद व दो अन्य ने उसे बहला-फुसला कर मस्तान बाबा उर्स में सरफराज नाम के लडक़े से उसकी मुलाकात करवाई. उसके बाद ससुराल वालों ने उसका मोबाइल ले लिया और उसके वाट्सएप चैटिंग का दुरुपयोग किया.

चार दिन पहले हमला करने का आरोप

पीड़िता ने अपने ससुराल के सदस्यों पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया उसके निजी फोटो भी उसे बदनाम करने की नीयत से वायरल किए गए. पीड़िता के अनुसार समाज में और परिवार में उसे बदनामी का डर था. ऐसे में उसकी स्थिति का फायदा उठाकर पति ने तीन बार मौखिक रूप से तलाक, तलाक, तलाक कहकर तलाक दे दिया. पीड़िता के अनुसार चार दिन पहले घर पर कुछ लोगों ने आकर उसके साथ मारपीट की और उसके पुत्र को जबरन उठा ले जाने का प्रयास किया. लेकिन हंगामा होने और मोहल्ले वालों के इकट्ठा हो जाने से वे भाग निकले. शिकायत के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.