India

PM मोदी करेंगे देश की पहली रैपिड ट्रेन का उद्घाटन

Rapid Rail: देश की पहली रैपिडेक्स ट्रेन के कॉरिडोर का उद्घाटन 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गाजियाबाद के साहिबाबाद से करेंगे। पहले चरण के उद्घाटन के बाद साहिबाबाद से दुहाई तक 17 किलोमीटर लंबे ट्रैक पर इस ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा। हरी झंडी दिखाने के बाद प्रधानमंत्री इस सेमी हाई स्पीड ट्रेन में दुहाई तक का सफर करेंगे और उसके बाद वसुंधरा में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी के कार्यक्रम को देखते हुए पांच हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाएगी। इसके अलावा जनसभा स्थल के आसपास रहने वाले लोगों के घर रिश्तेदार मित्र परिचित नहीं आ सकेंगे। सुरक्षा की दृष्टि से कार्यक्रम स्थल के आसपास रहने वाले लोगों का सत्यापन होना है। 21 अक्टूबर से यह रैपिडेक्स आम जनता के लिए उपलब्ध रहेगा, इसमें लोग सफर कर सकेंगे। उम्मीद की जा रही है कि मंगलवार शाम तक एनसीआरटीसी की ओर से किराए दर घोषित की जा सकती हैं।

हिंडन एयरफोर्स स्टेशन

अधिकारियों ने भी जनसभा स्थल और रैपिडएक्स स्टेशन पर पहुंचकर सुरक्षा का जायजा लिया। सुरक्षा संबंधित जरुरी दिशा निर्देश दिए। रैपिडएक्स के उद्घाटन को लेकर प्रधानमंत्री मोदी के रूट अभी आधिकारिक रूप घोषित नहीं किया गया है, लेकिन नगर निगम ने हिंडन एयरफोर्स स्टेशन से वसुंधरा सेक्टर आठ तक सड़कों का सुंदरीकरण करा दिया है। नगर आयुक्त इस रूट का लगातार निरीक्षण कर अधिकारियों को निर्देशित कर रहे हैं। माना जा रहा है कि यह रूट प्रधानमंत्री का तय हो सकता है। इस रूट से गोवंशी को हटाने का काम भी चल रहा है। हिंडन एयर फोर्स स्टेशन से सेक्टर आठ तक गोवंशी को हटा दिया गया है। सभी गोवंशी को नंदी पार्क गौशाला में संरक्षित किया गया है। इसके अलावा वसुंधरा सेक्टर आठ में जनसभा स्थल के आसपास रहने वाले लोगों के घर रिश्तेदार, मित्र, परिचित नहीं आ सकेंगे।

कार्यक्रम स्थल के पास घरों में नहीं आ सकेंगे रिश्तेदार

सोमवार को पुलिस ने सभी को नोटिस जारी कर वीवीआईपी की सुरक्षा का हवाला देते हुए परिवार के सभी सदस्यों का सत्यापन कराने को कहा है। क्षेत्र के होटलों को भी सख्त हिदायत दी गई है। पुलिस ने वसुंधरा स्थित जनसभा स्थल के आसपास मकानों व सोसायटियों में रहने वाले लोगों को नोटिस दिए। जिसमें लिखा गया है कि वीवीआईपी कार्यक्रम प्रस्तावित है।

सुरक्षा की दृष्टि से कार्यक्रम स्थल के आसपास रहने वाले लोगों का सत्यापन होना है। अपने परिवार के सभी सदस्यों का नाम और पते सत्यापित करेंगे। इसके लिए पहचान पत्र दें। कार्यक्रम समाप्त होने तक यहां रहने वाले लोगों के घर पर सत्यापन होने के बाद कोई रिश्तेदार, परिचित, दोस्त आदि नहीं आ सकेंगे। यदि आपात स्थिति में कोई आता है तो उसकी सूचना, पहचान पत्र, आने का कारण, रुकने के दिन सभी का विवरण थाना प्रभारी निरीक्षक को उपलब्ध कराना होगा। ऐसा नहीं करने की स्थिति में कार्रवाई की जा सकती है।

सुरक्षा में पांच हजार जवान तैनात

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान रूट पर पांच हजार सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे। प्रधानमंत्री के आसपास पहला घेरा एसपीजी का होता है। इसके बाद एनएसजी और फिर पुलिस व पीएसी के जवानों का घेरा होगा। बाहर से 50 एसीपी व सीओ गाजियाबाद भेजे जाएंगे। इसके अलावा 10 खोजी श्वान दस्ता, एंटी माइन्स, एंटी सबोटाज, जैमर के साथ एटीएस, एसटीएफ और आईबी के अधिकारी भी डटे रहेंगे। जनसभा स्थल जर्मन हैंगर से कवर होगा ताकि अनधिकृत प्रवेश न हो। इस स्थल को सीसीटीवी कैमरों से कवर कर कंट्रोल रूम बनेगा। कार्यक्रम के समय एनएसजी की एंटी ड्रोन यूनिट यह सुनिश्चित करेगी कि इसके ऊपर व आसपास के क्षेत्र में कोई ड्रोन न उड़ पाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button